You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

How do you want to celebrate this Diwali?

Start Date: 23-10-2019
End Date: 30-11-2019

Diwali has been celebrated in the Indian subcontinent for ages. The festival sustained all the adversities throughout the centuries. Its popularity has grown manifold in recent ...

See details Hide details

Diwali has been celebrated in the Indian subcontinent for ages. The festival sustained all the adversities throughout the centuries. Its popularity has grown manifold in recent years, thanks to the bright and colourful elements attached to it. Nowadays, it is celebrated throughout the globe. However, at the same time, there is an emerging concern about the air and noise pollution caused on those two days. The government has imposed a lot of restrictions on bursting of crackers. But, there is a debate over the restrictions with questions posed on extravagance on other occasions such as New Year and Christmas.
What do you think and what is your plan to celebrate this Diwali. Let us know your comments. Wish you a very Happy Diwali!

All Comments
Reset
38 Record(s) Found
2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

गर्भपात का खतरा
दीवाली के समय पटाखे जलाने पर खतरनाक कार्बन डाइ ऑक्साइड गैस सांस में घुलकर गर्भवती स्त्री के गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुंचाते हैं जिससे गर्भपात तक होने का खतरा रहता है।

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

बहरापन
कई बार तेज धमाकों के पटाखों की वजह से कान के पर्दे तक फट जाते हैं। जिनसे बहरापन होने का खतरा रहता है।

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

आंखों की समस्या
दिवाली के पटाखों से होने वाले प्रदूषण से ऐसे जहरीले कण निकलते हैं जिनकी वजह से आंखों में जलन और पानी निकलने की समस्या हो जाती है। इनसे बचने के लिए आंखों पर ठंडे पानी के छींटे मारते रहने चाहिए।

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

फेफड़ों का कैंसर
पटाखों में मौजूद पोटैशियम क्लोरेट तेज रोशनी पैदा करते हैं जिसकी वजह से हवा जहरीली हो जाती है और फेफड़ों से जुड़ी परेशानी घेर लेती है

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

सांस की बीमारियां
पटाखों को बनाने में गन पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है जिसकी वजह से हवा में सल्फर डाई ऑक्साइड फैलती है। जिसके कारण वायु प्रदूषण फैलता है और दमा के रोगियों के लिए जहर का काम करता है।

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

सुबह की हल्की धूप में योग और मेडिटेशन करें ताकि मन शांत रहें और घबराहट न महसूस करें। इसके साथ ही भूखे पेट न रहें और ऐसी चीजों को खाएं जो शरीर को गर्म रखे

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

धूल और धुएं की वजह से अपना इनहेलर हमेशा साथ रखें। साथ ही बहुत नमी वाली जगह पर जाने से बचें।

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

दिवाली से पहले ही अपने डॉक्टर से सलाह कर लें कि अगर इमरजेंसी में कोई परेशानी आ जाए तो उससे कैसे निपटे।

2350030

Bhawna 3 months 3 weeks ago

इस बात का खास ख्याल रखें कि शाम के समय जब लोग ज्यादा से ज्यादा पटाखें जलाते हैं तो घर से बाहर न निकलें। क्योंकि उस समय धूल और धुआं सबसे ज्यादा मात्रा में फैलता है। या फिर अगर घर से बाहर जाना ही है तो मास्क पहन कर निकलें।